Back
Home » रिलेशनशिप
इन वजहों से आप नहीं है एक दूसरे के साथ कम्फ़र्टेबल
Boldsky | 12th Jul, 2018 11:40 AM

आरामदायक होना खुश होने की स्थिति है। यह आपके और आपके साथी पर निर्भर करता है। आप रिश्ते में आराम से नहीं रह सकते हैं जब तक कि आपका पार्टनर आपको वो सहजता न दे रहा हो।

रिश्ते केवल तभी काम करते हैं जब आप और आपका साथी एक-दूसरे के साथ सहज होते हैं। अगर आप और आपका साथी एक-दूसरे के साथ सहज नहीं है तो इसका कारण एक छोटी गलतफहमी या बड़ी लड़ाई हो सकती है।

आप एक-दूसरे के साथ सहज क्यों नहीं है और आप इस परिस्थिति में कैसे फंस गये, अकसर आप ये दो सवाल खुद से पूछते रहते हैं और इनका जवाब मांगते रहते हैं। ऐसे कई कारण हैं जो कपल को एक-दूसरे के साथ असहज और नाखुश बनाते हैं। दुखी रहना असहज होने का ही एक कारण है और इसे केवल आप और आपका पार्टनर ही दूर कर सकता है।

यदि आप और आपका साथी लगातार अपने रिश्ते को लेकर लड़-झगड़ रहे हैं तो ये आपके दुख और उदासी का कारण बन सकते हैं, इसलिए यह सही समय है जब आपको यह समझने की आवश्यकता है कि इस तरह के दुख के पीछे क्या कारण है, जो आपको और आपके साथी के दिमाग की शांति को खा रहा है।

रिश्तों के बारे में बात करने से पहले हमें इन सभी बातों के बारे में जानना पड़ता है, जो हमारी आंखों से तो बहुत साफ दिखते हैं लेकिन अंधे प्यार के नीचे छिपे रहते हैं। लोग सिर्फ प्यार और प्यार और प्यार के बारे में सोचते हैं और रिश्ते की गहराई को भूल जाते हैं।

क्या कारण है जिसकी वजह से आप और आपका पार्टनर सहज नहीं हैं:

1. समायोजन और समझौते की कमी

2. नाटक कभी खत्म नहीं होता है

3. लंबे समय तक अनसुलझे मुद्दे

4. झूठ बोलने से रिश्ते खत्म होते हैं

1. सामंजस्य और समझौते की कमी

आज आप जो हेल्दी रिलेशनशिप देखते हैं वह समझौता और समायोजन पर बना होता है। आरामदायक जोड़े इस तथ्य को समझते हैं कि जब वे किसी रिलेशनशिप में आते हैं तो हर समय सब कुछ सही नहीं रह सकता है। ऐसा इसलिए है क्योंकि अभी सबकुछ नया है और दोनों उस रिश्ते में एडजेस्ट होने की कोशिश करते हैं क्योंकि इससे उन्हें प्यार को एकजुट करने में मदद मिलती है। जब आप और आपके साथी रिश्ते में सहज नहीं होते हैं, तो आप एक-दूसरे की जासूसी करने लगते हैं। और ऐसे में आप और आपका साथी एक-दूसरे के साथ खुश नहीं रहते हैं। आपका स्वार्थ और एट्टीयूड है जो रिश्ते को दुखी बनाता है।इस वजह को आपको और आपके साथी को पहचानने की ज़रूरत है।

सामंजस्य और समझौते की कमी हमेशा असफल रिश्ते की ओर आपको धकेलती है क्योंकि प्यार स्वयं को बेकार कर देता है। एक-दूसरे के साथ सहज रहने के लिए, आप और आपके साथी को एक-दूसरे को स्वीकार करना और एक-दूसरे के साथ एडजस्ट करना आना चाहिए।

2. नाटक कभी खत्म नहीं होता है

आपके रिश्ते में नाटक आपकी बातचीत को असफल बना देता है। इन रोज़-रोज़ के नाटकों के चक्कर में आपके रिश्ते में खुशी अब केवल दिखावा मात्र हो गयी है। असहज जोड़े वास्तव में नहीं जानते हैं कि उनकी लड़ाई कैसी है। हर नई सुबह आपके जीवन में एक नया नाटक लाती है। हर दिन आपके और आपके साथी के लिये यह एक धारावाहिक जैसा है। राज़ छुपाना, गलत चीज़ों को लेकर कुछ ज़्यादा प्रतिक्रिया देना, बेवकूफी भरे तर्क और रिश्ते में नाटक करना, आपको और आपके साथी को एक-दूसरे के साथ असहज बनाते हैं।

आपको यह समझने कि ज़रूरत है कि रिलेशनशिप में बातचीत बहुत ज़रूरी है और आपको इसे बिल्कुल नहीं छोड़ना चाहिए। रिश्ते का आधार आपकी आपस में बातचीत ही है इसिलए इस प्रथा को तोड़ने की कोशिश ना करें।

3. लंबे समय तक अनसुलझे मुद्दे

अकसर रिलेशनशिप में कपल एक-दूसरे के मुद्दों में शांत रहने की कोशिश करते हैं ताकि उनका रिश्ता बना रहे। यह तब तक सही चलता है जब तक समस्या स्थिर है। सरल शब्दों में कहें, यदि आपके और आपके पार्टनर के बीच किसी बात को लेकर लड़ाई होती है तो इसके बारे में झुकाव नहीं करना चाहिए बल्कि एक-दूसरे की आंखों में देखने का प्रयास करना चाहिए। यह जानने की कोशिश करनी चाहिए कि सामने वाला दुखी क्यों है और मुद्दे को खत्म करने के लिये एक नया तरीका अपनाना चाहिए।

कपल जो एक-दूसरे के साथ सहज नहीं है, अकसर समस्या को एक खुले घाव के रूप में छोड़ने का विकल्प चुनते हैं और उसे बंद करने के बारे में नहीं सोचते हैं, जिससे इसे लंबे समय तक अनसुलझा मुद्दा बना दिया जाता है। इस तरह के जोड़ों के लिए, ईगो प्यार से बड़ा रूप ले लेता है। फिर आप अपने रिश्ते के बारे में सोचना बंद कर देते हैं।

4. झूठ बोलने से रिश्ते खत्म होते हैं

झूठ अकसर अप्रत्यक्ष रूप से रिश्ते को प्रभावित करते हैं और वास्तव में कोई इसे तुरंत समझ नहीं पाता है। जब आपका रिलेशनशिप इस समस्या से जूझ रहा होता है तो आप खुद से झूठ बोलते हैं, "मैं ठीक हूँ!", "सब ठीक हो जाएगा बस इसे कुछ समय दें।", "सब कुछ ठीक होने वाला है और मैं फिर कभी ऐसा नहीं करूंगा।" आप और आपके साथी आमतौर पर इसे समझ नहीं पाते हैं कि आपका रिश्ता मर रहा है।

आप और आपका पार्टनर एक-दूसरे को खुश रखने के लिये एक नाटक की स्क्रिप्ट की तरह हर दिन झूठ को दोहराते रहते हैं। फिर आप सभी चीजों के बारे में झूठ बोलना शुरू करते हैं क्योंकि आप सोचते हैं, सच कहने का मतलब यह होगा कि आपका रिलेशनशिप टूट सकता है। चूंकि ये असुविधाएं कपल के दिमाग में विकृत विचारों और भावनाओं को दूर करती हैं, वहां ईमानदारी अपनी यात्रा समाप्त करती है। यही वजह है कि झूठ रिश्तों की असुविधा बन जाती है और जोड़े अलग हो जाते हैं। रिश्ते में झूठी खुशी को बरकरार रखने के लिये झूठ बोलना एक रिश्ते की सहजता को समाप्त कर देता है।

यही वो 4 कारण है जिसकी वजह से आप और आपका साथी एक-दूसरे के साथ सहज नहीं है। इसलिए इन कारणों को जल्द ही समझने और सुलझाने की कोशिश करें। अपने प्यार के घरौंदे को बनाए, जिसे आप हमेशा चाहते थे। अपने साथी को खुश करें और साथ ही खुश रहें, जिसके आप हकदार हैं।

यदि आपको हमारा लेख पसंद आया हो तो इसे शेयर ज़रूर करें और नीचे दिए गये कमेंट बॉक्स पर अपनी प्रतिक्रिया दें।

   
 
स्वास्थ्य