Back
Home » स्‍वास्‍थ्‍य
वजन कम करने से लेकर पत्‍थरी का इलाज करती है ये सब्‍जी, तोरई खाने के फायदे
Boldsky | 14th Sep, 2018 03:52 PM
  • आंखों को तेज करने के ल‍िए

    यह शरीर के अंदर तरल पदार्थ का न‍िर्माण करता है। ये शरीर की ड्रायनेस को दूर करती है। तोरी कूलिंग एजेंट के रूप में कार्य करने के लिए जानी जाती है इस सब्जी में उपस्थित बीटा केरोटीन के कारण यह आंखों की रोशनी को तेज करता है।


  • पेट के लिए यह सब्जी

    तोरई को कब्ज होने पर खाया जाता है। इससे जल्‍द कब्‍ज से छुटकारा मिलता है। और इसका प्रयोग बवासीर से छुटकारा पाने के लिए भी किया जाता है यह पेट की कार्यप्रणाली पर अच्छा प्रभाव डालती है।


  • रक्त को करे शुद्ध

    बार-बार अपने भोजन में तोरई का प्रयोग आपके रक्त में मिले दूषित तत्वों को साफ करने का बहुत अच्छा उपाय है इसके अतिरिक्त यह आपके लिवर के लिए भी बहुत अच्छी है और एल्कोहल और नशे के प्रभाव को भी कम करने में मदद करती है लिवर की समस्या में तोरई मददगार तोरई की सब्जी खाने से लिवर की सभी समस्याएं ठीक होती है इसके आलावा यह लिवर में खून को साफ करती है तोरी लिवर के लिए किसी गुणकारी औषधि से कम नही है


  • पथरी का इलाज

    तोरई पत्‍थरी के मरीजों के ल‍िए रामबाण से कम नहीं है। आयुर्वेद के अनुसार अगर रोज सुबह तोरई की बेल को गाय के दूध या फिर ठंडे पानी में घिसकर सबुह के समय पीने से पथरी कम होने लगती है और खत्म हो जाती है। कम से कम 3 दिन ये नुस्‍खा अपनाएं। इसके बाद आपको महसूस होगा कि आपके दर्द में काफी कमी आई है। कुछ दिन बाद ये बीमारी हमेशा के लिए दूर हो जाएगां।


  • बाल काले हो जाते है

    तोरई के सेवन से घुटनो के दर्द में आराम मिलता है बाल काले करने के लिए तोरई के टुकड़ो को सुखाकर इसके छोटो छोटे टुकड़े कर लें। अब इन्‍हें नारियल के तेल में चार दिन तक डुबो कर रखे फिर इसे उबाले और छानकर बोतल में भर ले इस तेल से सर की मालिश करने से बाल काले हो जाते है।


  • पीलिया रोग से राहत पाने के लिए

    पीलिया रोग हो जाने पर तोरई के फूल के रस की दो बूंदे रोगी के नाक में डाले इस उपाय से नाक में से पीले रंग का पदार्थ बहार आ जाता है और पीलिया जल्दी ही ठीक हो जाता है।


  • दाद खुजली से राहत

    दाद खाज और खुजली कई समस्या दाद खाज और खुजली कई समस्या से अगर आप परेशान है तो तोरी के बीजो और पत्तो को पानी के साथ पीसकर इसका पेस्ट बनाये और इसका लेप त्वचा पर लगाए यह खुजली और दाद से तुरन्त राहत देती है इसके आलावा आप तोरी के इस पेस्ट को कुष्ठ रोगों पर भी लगा सकते है।


  • डायबिटीज के मरीजों के ल‍िए

    तुरई ब्‍लड और यूरीन दोनों में शुगर के स्‍तर को कम करने में मदद करती है। तोरई में इन्सुलिन की तरह पेप्टाईड्स पाए जाते हैं। इसलिए इसे डायबिटीज नियंत्रण करने के ल‍िए इस सब्जी का सेवन करना चाह‍िए।


  • गर्भवती महिला के ल‍िए फायदेमंद

    इसमें विटामिन सी, कार्बोहाइड्रेड, प्रोटीन और फाइबर होता है। बी-कॉम्‍प्‍लेक्‍स व फोल‍िक एसिड गर्भवती महिलाओं के ल‍िए फायदेमंद होता है।


  • वजन कम करें

    इस सब्‍जी में केवल 25 प्रतिशत कैलोरी होने की वजह से ये वजन नियंत्रित करने में मदद करती है। इसमें वसा और कोलेस्ट्रॉल की भी बहुत ही सीमित मात्रा होती है जो वजन कम करने में सहायक होती है।




ताजा हरी सब्जियों के फायदों के बारे में तो हर कोई जानता है। हरी सब्‍जी खाने से उचित मात्रा आहार में शरीर में ब्‍लड का निर्माण होता हैं और शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ने के साथ ही हमारे रक्‍त में ह‍िमोग्‍लोबिन का स्‍तर बढ़ता है। जो हमारे शरीर को बाहरी बीमार‍ियों से रक्षा करता है।

रक्त और हीमोग्लोबिन की मात्रा सही रखने के लिए हरी सब्जियों से बढ़कर कुछ भी नहीं है, इन्‍हीं में से एक है तोरई की सब्‍जी। जो हालांकि खाने में हर किसी को पसंद नहीं आती है लेकिन इसे खाने के कई फायदे हैं। तोरई की सब्‍जी आराम से पच जाती है। आइए जानते है इसे खाने के फायदों के बारे में।

   
 
स्वास्थ्य