Back
Home » स्‍वास्‍थ्‍य
कानों से न‍िकलते बाल है खतरे की घंटी, जानिए कैसे पाएं इनसे छुटकारा
Boldsky | 17th Sep, 2018 02:36 PM
  • कब होना चाहिए सर्तक

    अगर किसी व्‍यक्ति के जन्‍मजात कानों में बालों की समस्‍या है तो इसे आप आनुवांशिकता से जोड़कर देख सकते है। लेकिन अगर बढ़ते उम्र में ये अचानक से उग आए तो आपको सर्तक होने की जरुरत है। क्योंकि यह बढ़ते बाल स्वास्थ्य संबंधी एक खास चेतावनी की ओर इशारा कर रहे हैं। दरअसल हाल ही में हुए एक शोध के अनुसार कान पर जिन लोगों के बाल होते हैं, वह हृदय रोग से पीड़ित होते हैं। खासतौर पर ऐसे लोगों को कभी भी हार्ट अटैक आ सकता है।


  • आनुवांशिकता के कारण

    रिसर्च के अनुसार ज्‍यादात्तर लोगों के कानों पर बाल आनुवांशिकता के कारण है। यदि उनके पिता या दादा के कान पर बाल हैं तो इसका असर आने वाली पीढ़ी पर भी होता है। लेकिन इसके अलावा भी कान पर बाल होने के कई कारण हैं।


  • सिगरेट पीने से होता है

    खराब लाइफस्टाइल, पौष्टिक आहार ना लेना और समय पर भोजन ना करना, ये भी कान पर बाल होने के लिए जिम्मेदार हैं। इसके अलावा शोध में यह बात सामने आई है कि जो लोग सिगरेट पीते हैं, यानि कि धूम्रपान करने के आदी हैं, उनके भी कान पर बाल होना सामान्य बात है।


  • बिगड़ती लाइफस्‍टाइल के कारण

    कानों पर अचानक उग जाने वाले बालों की वजह हार्मोनल चैंजेस होते है। इसके अलावा स्‍मोकिंग, शराब की लत और बिगड़ती लाइफस्‍टाइल है। आइए जानते है कि कैसे कानों के बाल से छुटकारा पाया जाएं।


  • ऐसे पाएं छुटकारा

    कटिंग-

    पहला स्‍टेप बालों की कटिंग होती है जो कि बहुत सावधानी पूर्वक करने की जरुरत होती है। एक छोटी कैंची लीजिये और उससे उन बालों को काटिये जो कान के बाहर की ओर निकले हुए हों। काम में कोई जल्‍दी ना करें और खुद को नुकसान ना पहुंचाएं।


  • शेविंग-

    कटिंग के बाद शेविंग करने से बाल कुछ समय के बाद उगते हैं। साथ ही इससे कान साफ भी हो जाते हैं। अपने कानों पर शेविंग क्रीम लगाएं और झाग पैदा करें, फिर शेव करें।


  • लेज़र हेयर रिमूवल-

    कानों के बालों से मुक्ति पाने के ल‍िए लेज़र हेयर रिमूवल का ऑपशन अच्‍छा रहेगा। लेज़र लाइट की बीम बालों की जड़ों को हमेशा के लिए नष्‍ट कर देती हैं, जिससे कान पर बाल नहीं उगते। लेकिन यह उतना भी प्रभावी नहीं है जितना लगता है क्‍योंकि कानों पर आपको हल्‍के रंग के बाल दिख ही जाएंगे। यह उपचार करवाने के लिए किसी अच्‍छे सैलून में ही जाएं।


  • इलेक्‍ट्रिक रेज़र-

    आजकल बाजार में कई तरह के इलेक्‍ट्रिक रेज़र उपलब्‍ध हैं जो कि कान से बाल को छीलने में काफी असरदार होते हैं। रेज़र चलाने से पहले इस बात का ध्‍यान रखें कि वह स्‍किन के ना जादा पास में हो और ना ही ज्‍यादा दूर।


  • हेयर रिमूवल क्रीम

    क्रीम का प्रयोग बहुत ही आसान होता है। इसमें ऐसे रसायन होते हैं जो कि बाल को गला देते हैं और जड़ से निकाल देते हैं। लोशन या क्रीम को लगाने से पहले इसे अपनी स्‍किन पर टेस्‍ट कर लें। अगर कहीं कटा या जला हो तो इस क्रीम को उस जगह पर ना लगाएं। क्रीम को कान के बालों पर कुछ देर लगाने के बाद गरम तौलिये से पोछ लें।




आपने अपने आसपास मौजूद कई ऐसे लोगों को देखा होगा, जिनके कानों पर बाल होते हैं। हालांकि ये सामान्‍य सी बात है कुछ लोग इसे ज्‍योतिष से तो कुछ लोग इसे आनुवांशिकता से जोड़कर देखते है। कुछ लोगों के शरीर पर जन्म के साथ ही काफी बाल होते हैं। हाथ-पांव से लेकर चेहरे तक पर हार्मोन बैलेंस अनियमिताओं के चलते सामान्य से अधिक बाल होते हैं। असल में कान पर बाल होना सही नहीं है।

स्वास्थ्य के लिए यह खतरा भी हो सकता है। आइए जानते है कि कानों में बाल किस वजह से उग आते है और इनसे कैसे मुक्ति पाएं।

   
 
स्वास्थ्य