Back
Home » समाचार
ऑनलाइन गेम के नशे में लड़के ने माता-पिता, बहन को मौत के घाट उतारा
Oneindia | 12th Oct, 2018 11:37 AM
  • अंतिम संस्कार में नहीं हुआ शामिल

    पुलिस ने बताया कि आरोपी सूरज ने हत्या के बाद घर में सामान को इस तरह से बिखेरा ताकि ऐसा लगे कि घर में लूट की वारदात को अंजाम दिया गया है, लेकिन बाद में बुधवार शाम को आरोपी सूरज को गिरफ्तार कर लिया गया। गिरफ्तार होने के बाद आरोपी को अपने किए पर किसी तरह का अफसोस नहीं था, बल्कि वह बार-बार यह रहा था कि उसे कानून से बचा लिया जाए। । घटना के बाद सूरज के परिवार के सदस्यों का अंतिम संस्कार कर दिया गया। सूरज के परिवार ने कोर्ट से सूरज को अंतिम संस्कार में शामिल होने देने की अपील नहीं की थी। मिथिलेश के भाई और भतीजे ने अंतिम संस्कार किया।


  • व्हाट्सएप ग्रुप में बनाते थे योजना

    पूछताछ के दौरान यह बात सामने आई कि सूरज ने एक व्हाट्सएप ग्रुप बनाया था, जिसमें 9-10 दोस्त शामिल थे, जहां ये सभी ग्रुप में स्कूल बंक करने की बात करते थे और बाहर घूमने की योजना बनाते थे। सूरज के दोस्त उसे अपना आदर्श मानते थे और इन लोगों ने उसे कमरा किराए पर लेने के लिए प्रेरित किया, जिसके बाद उसने मेहरौली में एक कमरा किराए पर लिया। कमरे में एक टीवी सेट भी था, यहां ये लोग सुबह 7 बजे से शाम को 6 बजे तक रुकते थे और ऑनलाइन गेम खेलते थे।

    इसे भी पढ़ें- Me Too: सेक्सुअल हैरेसमेंट पर हाईकोर्ट का बड़ा फैसला, कहा- सोशल मीडिया से पोस्ट हटाइए


  • घरवाले जताते थे आपत्ति

    पुलिस ने बताया कि हमने सभी दोस्तों को जांच में शामिल होने के लिए कहा है। सूरज के परिवार वालों ने पुलिस को बताया कि उन्हें हमेशा ऐसा लगता था कि सूरज एक अच्छा लड़का है। पड़ोसियों का कहना है कि उन्हें अक्सर घर से चीखने की आवाजें आती थी और झगड़ा होता था। दरअसल जिस तरह से सूरज अपना जीवन जी रहा था उसकी वजह से घर वाले काफी परेशान थे और इसपर आपत्ति जताते थे। जिसकी वजह से सूरज अपने घर वालों के खिलाफ हो गया था।




नई दिल्ली। दिल्ली में एक ऐसी सनसनीखेज हत्या का मामला सामने आया है, जिसमे 19 साल के लड़के ने अपने ही माता-पिता और बहन को मौत के घाट उतार दिया। जानकारी के अनुसार आरोपी लड़का जिसकी उम्र 19 वर्ष है, उसने मेहरौली में एक कमरा किराए पर लिया था, जहां वह अपने दोस्तों के साथ ऑनलाइन गेम खेला करता था। वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि आरोपी सूरज वर्मा ने अपने ने पिता मिथिलेश, मां सिया और बहन को बुधवार को मौत के घाट उतार दिया।

इसे भी पढ़ें- Me Too: 'पार्टी में पूरी रात शराब पीते रहे पीयूष मिश्रा, फिर मेरा हाथ पकड़कर...'

   
 
स्वास्थ्य