Back
Home » स्‍वास्‍थ्‍य
कभी खाया है कच्‍चे केले का आटा, ग्‍लूटेन फ्री के साथ वजन बढ़ने से रोके
Boldsky | 4th Jan, 2019 04:20 PM
  • घर पर भी बना सकते है ये आटा

    केले के आटे को बनाने में काफी कम मेहनत लगती है। इसमें कैमिकल की मात्रा बहुत ही कम या बिल्कुल नहीं होती। एक खास तरीके के द्वारा कच्चे केले को छीलकर, काटकर, सूखाकर और पीसकर, केले का आटा बनाया जाता है। केले के पकने से पहले इस तरीके से उसका आटा बनाया जाता है। इस आटे की खास बात ये है कि इसमें किसी तरह के प्रिसर्वेटिव और रंगो का इस्तेमाल नहीं किया जाता, जो हमारी सेहत के लिए बहुत ही बेहतर है ।


  • ऐसे करे इस्‍तेमाल

    केले के आटे से लोग बिस्किट और केक बनाने में इस्‍तेमाल करते है।
    इसे आप सामान्‍य आटे के साथ मिलाकर रोटी में इस्‍तेमाल कर सकते है या दूसरे खाद्य पदार्थ में मैदे या आटे के तौर पर शामिल कर सकते है।


  • ब्‍लड शुगर को रखे नियंत्रित

    कच्‍चे केले को पकने से पहले ही तोड़ दिया जाता है, इसल‍िए इसमें शुगर की मात्रा पूरी तरह से विकसित नहीं हो पाती है, इस वजह से इसमें प्राकृतिक तौर पर मौजूद शर्करा की मात्रा बहुत कम होती है। इसके अलावा पास्‍ता, मैदा और सफेद ब्रेड की तरह इसमें काफी कम मात्रा में स्‍टार्च होता है। जो आसानी से पच जाता है और रक्‍तप्रवाह में बह रहे ग्‍लूकोज को अवशोषित कर इंसुल‍िन के स्‍तर को बढ़ाने का काम करती है। हरे केले में मौजूद प्रतिरोधी स्टार्च पेट के माध्यम से भोजन को बाहर निकलने की प्रक्रिया को धीमा कर देता है। जिसकी वजह से इंसुलिन की धीमी प्रतिक्रिया है शुगर को उतेजित होने से रोकता है।


  • पोषक तत्‍वों से भरपूर

    केले के आटे में जरुरत से ज्‍यादा आवश्‍यक खनिज तत्‍व और विटामिंस शामिल होते है जैसे जिंक, विटामिन ई, मैग्‍नीशियम और मैग्‍नीज। इसके अलावा में इसमें भरपूर मात्रा में पोटेशियम शामिल होता है। दो चम्‍मच केले के आटा में 7 केले बराबर पोषक तत्‍व शामिल होते है, जो कोलेस्‍ट्रॉल को घटाने के साथ ही दिल को स्‍वस्‍थ रखता है और तंत्रिका और मसल्‍स एक्टिविटी को बढ़ाता है।


  • कम कैलोरीज

    केले का आटा ना केवल कैलोरी के मामले में काफी कम कैलोरी रखता है वही इसमें मौजूद तत्व इसे हमारे खाने की प्लेट का मुख्य हिस्सा बना देगा । इसमें पोटेशियम, आयरन , कैल्सियम विटामिन ए और विटामिन सी का प्रचुर मात्रा में पाया जाता है । अगर व्यायाम करने के बाद आप केला खाते है तो शरीर को तुरंत ताकत मिलती है इसी तरीके से केले का आटा भी काफी अच्छे से हमें एनर्जी देता है।


  • वजन कम करें

    केले में मौजूद हाई फाइबर हमारे पाचन तंत्र के लिए बहुत बेहतर है इसके साथ ही ये हमें काफी लम्बे समय तक पेट भरा होने का एहसास देता है, इस वजह से हम एक्‍स्‍ट्रा और फालतू कैलोरी खाने से बचते हैं। इसकी वज़ह से हमारी ब्लड शुगर काबू में रहती है जिससे हमारा बढ़ता हुआ वज़न कम करने में मदद मिलती है ।


  • ग्‍लूटेन फ्री

    केले का आटा सेहत को लेकर ज़्यादा फिक्र करने वाले लोगो के बहुत अच्छा विकल्प है इसमें ग्लूटेन यानी आम तौर पर अनाज से बनने वाले आटे में पाए जाने वाला गोंद वाला पदार्थ नही होता है । अगर आप भी शाकाहारी है और ज़्यादा सेहतमंद विकल्प ढूढ़ रहे तो आपकी तलाश केले के आटे पर खत्म होती है ।




गेंहू, बाजरा और रागी के आटे की रोटियां तो आपने खूब खाई होंगी। लेकिन क्‍या आपने कभी कच्‍चे केले के आटे को चखा है। अब आप सोच रहे होंगे कि कच्‍चे केले का आटा कैसा होता है? केले का आटा, कच्चे और सूखे हुए केले का पाउडर है ये आटा किसी सुपरफूड से कम नहीं है। ज्‍यादात्तर लोग इसका इस्‍तेमाल केक और बिस्‍कुट बनाने में करते है।

केला विटामिन ए का एक अच्छा स्रोत है इसी कारण ये हमारी आंखों और सेहत के लिए काफी फायदेमंद है, तो आइए जानते है कि ये सुपरफूड किस तरह से हमारे लिए फायदेमंद है :

   
 
स्वास्थ्य