Back
Home » स्‍वास्‍थ्‍य
पुरुषों को भी आते है पीरियड, जानिए महिलाओं के पीरियड से कैसे है अलग
Boldsky | 14th Feb, 2019 01:08 PM
  • पीरियड पैड की जरुरत नहीं होती

    पुरुषों का पीरियड उनके हार्मोंस पर निर्भर करता है। इस दौरान उनके मूड में अचानक ही उतार चढ़ाव होने लगता है। जिस तरह महिलाओं को मासिक धर्म के दौरान होता है। लेकिन पुरुषों की तरह सैन‍िटरी नैपकिंस की जरुरत नहीं होती है लेकिन उनके शरीर में हो रहे हार्मोनल चैजेंज होते है जिन्‍हें समझना जरुरी होता है।


  • ये होते है लक्षण

    मेडिकल टर्म में इस स्थित‍ि को Irritable Male Syndrome (IMS) कहते हैं, इस दौरान मर्दों को पेट और कमर में दर्द, चिड़चिड़ापन, भूख ना लगना या बहुत ज्यादा खाना, गुस्सा आना जैसी चीजें होती है। हां पुरूषों की महावारी में उन्हें रक्त-स्‍त्राव जैसा नहीं होता लेकिन वो बहुत ज्यादा ड्रिप्रेसिव हो जाते हैं। हालांकि शोध में कहा गया है कि हर चार में से एक पुरूष में यह होता है।


  • पुरुष नहीं पहचान पाते है?

    रिसर्च के अनुसार आईएमएस के लक्षणों में कन्‍फ्यूज होना, सेक्‍स, इच्‍छा में की, एंजाइटी, थकान, गुस्‍सा आना, डिप्रेशन, मूड बदलना और सुस्‍ती आना जैसे लक्षण शामिल होते हैं जो अक्‍सर पुरुषों में पीर‍ियड्स यानी आईएमएस आने के दौरान देखे जाते हैं। रिसर्च ने ये दावा किया है कि पुरुष हार्मोंस बदलने के दौरान हर घंटे में हार्मोंस स्‍तर में बदलाव को महसूस करते है। 15 से 55 आयुवर्ग के पुरुष ये लक्षण महसूस करते है। अक्‍सर पुरुष इन लक्षणों की तरफ ध्‍यान नहीं देते है, उन्‍हें लगता है कि इन लक्षणों की पीछे कोई और वजह है।


  • मह‍िलाएं क्‍या सोचती है इस बारे में ?

    इससे जुड़े एक सर्वे में महिलाओं से जब पुरुषों के व्‍यवहार को लेकर पूछताछ की गई तो इसमें तकरीबन 50 फीसदी महिलाओं ने इस बात को कबूली कि उनके पार्टनर हार्मोंस बदलाव के वजह से छोटी-छोटी चीजों के ल‍िए आग बबूला हो जाते हैं। कभी-कभी उन्‍हें बहुत भूख लगने लगती है। उनका मूड बहुत जल्‍दी-जल्‍दी बदलता है।




क्‍या आपके बायफ्रेंड का मूड स्विंग हो रहा है, वो चिढ़चिढ़ापन महसूस कर रहे हैं, छोटी सी छोटी चीजों में वो गुस्‍सा करने लगते है। खैर, समझ जाओं शायद उनका पीरियड टाइम शुरु हो गया हो। जी हां, आपने सही सुना! पुरुषों को भी महिलाओं की तरह पीरियड आते है।

एक सर्वे के अनुसार कई पुरुषों का मानना है कि उन्‍हें भी पीरियड इश्‍यूज होते है लेकिन उनके पीरियड महिलाओं की तुलना में थोड़े अलग होते है। मासिक धर्म के दौरान पुरुषों का अक्‍सर बिहेव‍ियर बदल जाता है ऐसा उनके हार्मोन इम्‍बैलेंस के वजह से होता है। हर तीन में से एक पुरुष को ये समस्‍या होती है ऐसे में फीमेल पार्टनर को पुरुषों की इस कंडीशन के दौरान सर्पोट करना चाह‍िए।

   
 
स्वास्थ्य