Back
Home » स्‍वास्‍थ्‍य
मछली नहीं है पसंद तो इन चीजों से पूरी करें ओमेगा 3 की कमी
Boldsky | 22nd Feb, 2019 04:09 PM
  • अखरोट

    अखरोट ओमेगा 3 फैटी एसिड, फाइबर, एंटीऑक्सीडेंट्स, विटामिन और प्रोटीन का बहुत अच्छा स्रोत है। ये डिप्रेशन से लड़ता है, मेमोरी बेहतर करता है, मस्तिष्क और दिल की सेहत को अच्छा करता है। साथ ही ये कैंसर से बचाव करने के आलावा वजन कम करने में भी इस्तेमाल होता है। आप अपने पसंदीदा डेजर्ट में अखरोट डाल सकते हैं या फिर सलाद-सीरियल में डाल कर इसका सेवन करें।


  • सोयाबीन

    सोयाबीन की मदद से आप हेल्दी तरीके से अपनी डाइट में ओमेगा 3 की कमी को पूरा कर सकते हैं। इसमें मौजूद एएलए दिल की सेहत बेहतर बनाते हैं। इसमें फाइबर, प्रोटीन, फोलेट, पोटाशियम, मैग्नीशियम और विटामिन भी रहता है। सोयाबीन ओमेगा 3 फैटी एसिड के बजाय ओमेगा 6 फैटी एसिड का अच्छा स्रोत है।


  • अलसी के बीज

    ओमेगा 3 फैटी एसिड के लिए आप अलसी के बीज का सेवन कर सकते हैं। ये हल्के भूरे या फिर सुनहरे पीले रंग के होते हैं जो कैंसर, ब्लड प्रेशर, दिल की सेहत के लिए काम करता है। अगर आप वजन कम करने के बारे में सोच रहे हैं तो इसे अपनी डाइट में जरूर शामिल करें।


  • अंडे

    जो लोग मछली नहीं खाते हैं वो उसकी जगह अंडे ले सकते हैं। अंडों में प्रोटीन की मात्रा बहुत अधिक होती है। साथ ही इसमें विटामिन, मिनरल्स और ओमेगा 3 फैटी एसिड भी पर्याप्त मात्रा में मौजूद होता है।


  • चिया बीज

    चिया बीज भी एएलए का अच्छा स्रोत है जो हृदय और रक्तवाहिकाओं से जुड़ी बीमारी के रिस्क को कम करता है। ये टाइप 2 डायबिटीज नियंत्रण के साथ दिमाग को स्वस्थ रखता है। इसमें मैगनीज, कैल्शियम, फास्फोरस और दूसरे पोषक तत्वों की प्रचुरता रहती है।


  • फूलगोभी

    ये हरी सब्जी भी ओमेगा 3 फैटी एसिड का बेहतरीन स्रोत है। ये दिल को स्वस्थ रखता है। इसमें मैग्नीशियम, पोटेशियम, फाइबर, मिनरल्स और घुलनशील चीनी मौजूद रहती है। एक कप फूलगोभी से आपको लगभग 28 कैलोरी मिल सकती है।


  • ब्रसल स्प्राउट

    ये कई तरह के पोषक तत्व का खजाना है जिसमें ओमेगा 3 फैटी एसिड भी मौजूद है। एक बार ब्रसल स्प्राउट का सेवन करने से 430 मिलीग्राम अल्फा लिनोलेनिक एसिड (एएलए) प्राप्त होता है।




ओमेगा 3 फैटी एसिड शरीर के लिए काफी अहम है। ये पॉलीअनसेचुरेटेड फैटी एसिड के तौर पर जाना जाता है। ये अनसेचुरेटेड फैट शरीर और मस्तिष्क के लिए सकारात्मक ढंग से काम करता है।

ये दिल से जुड़ी बीमारी के खतरे को कम करता है, याद्दाश्त तेज करता है, ब्लड प्रेशर नियंत्रित करता है, साथ ही डायबिटीज को कंट्रोल करता है। इसके साथ ही ये कैंसर और आर्थराइटिस की संभावना को भी कम करता है।

शरीर में ओमेगा 3 की कमी होने से कुछ संकेत मिलते हैं। त्वचा ड्राई हो जाएगी, चीजें भूलने लगेंगे, डिप्रेशन, मूड स्विंग, चक्कर आना और दिल की बीमारी हो सकती है। मछली ओमेगा 3 का बहुत अच्छा स्रोत है, मगर कुछ लोगों को इसका स्वाद और महक अच्छी नहीं लगती है। इस आर्टिकल में हम कुछ ऐसी चीजों के बारे में बता रहे हैं जिसे आप अपनी डाइट में शामिल कर सकते हैं और ओमेगा 3 की कमी को पूरा कर सकते हैं।

   
 
स्वास्थ्य