Back
Home » रिलेशनशिप
लव मैरिज के लिए नहीं मान रहा परिवार तो अपनाएं ये तरीके
Boldsky | 11th Jun, 2019 04:16 PM
  • करें सही वक्त का इंतजार

    आप ये सोच कर दुखी ना हों कि सिर्फ आपका परिवार ही लव मैरिज के लिए नहीं मान रहा है। भारत में ऐसे लोगों की संख्या बहुत है जिनसे उनकी पसंद जाने बिना ही उनकी शादी तय कर दी जाती है। आपको इस बात पर फोकस करना है कि अपने माता पिता से अपने दिल की बात कब और कैसे बतानी है। जब आपके घर में आपके लिए रिश्ते आने शुरू हो जाएं तभी आप सतर्क हो जाएं कि अब शादी से बचना आपके लिए मुश्किल है और अब जल्द ही आपको अपने लाइफ के स्पेशल व्यक्ति के बारे में बताने की जरूरत है।


  • माता पिता को कैसे बताएं

    घर में आपके लिए रिश्ते आने से ही ये बात साफ हो जाती है कि आपकी शादी अब लोगों की प्राथमिकता बनती जा रही है और आप लोगों की नजर में हैं। अगर आप अपनी शर्म-हया को छोड़कर खुद अपने बड़ों से अपनी शादी की बात करने पहुंच जाएंगे तो गड़बड़ हो सकती है। ऐसे में आप अपने भाई-बहन की मदद लें। उन्हें अपना संदेशवाहक बनाकर मम्मी-पापा के पास भेजें और उन्हें ही प्रपोजल रखने दें।
    इस कदम के बाद आपको अपने बड़ों का गुस्सा झेलने के लिए भी तैयार रहना होगा। आप घबराएं नहीं। उनका गुस्सा शांत होने का इंतजार करें और फिर एक खत लिखकर उसे उनके तकिए के नीचे रख दें। इस चिट्ठी में आप जिस शख्स से विवाह करना चाहते हैं उसकी सभी खूबियों को लिख डालें। आप इसमें अपनी और अपनी परिवार की ख़ुशी का जिक्र करें। यदि आस-पड़ोस और जान पहचान में भी किसी ने प्रेम विवाह किया हो और वो सफल रहा हो तो उसका जिक्र करना ना भूलें।


  • आप पहले ही समर्थन के लिए लोग तैयार कर लें

    घर पर प्रेम विवाह की बात करना ही जंग का बिगुल फूंकने के समान है और इसके लिए आपको अपनी टीम भी तैयार करने की जरूरत है। आपके दोस्त और भाई बहन इस काम में आपकी मदद कर सकते हैं। इस दौरान ये भी ध्यान रखें कि आप अपने ऐसे रिश्तेदारों को इस मामले से दूर रखें जो लव मैरिज के विरोधी हों।


  • राय बनने से पहले पैरेंट्स और पार्टनर की मुलाकात करवाएं

    अगर बातचीत करने पर भी आपके माता पिता प्रेम विवाह के लिए नहीं मान रहे हैं तो आप बस उन्हें एक बार अपने पार्टनर से मिलने के लिए राजी जरूर कर लें। अपने पैरेंट्स को बताएं कि जिस शख्स को आपने पसंद किया है कम से कम उससे एक बार मिल लेने में कोई बुराई तो नहीं है। वहीं दूसरी तरफ आप अपने पार्टनर को भी इस मीटिंग के लिए तैयार करें। उन्हें अपने माता पिता के बारे में बताएं। साथ ही उसे सचेत कर दें कि ये उसके लिए आखिरी मौके की तरह है।
    आप इस बात का ध्यान रखें कि अपने माता पिता को मनाते समय उन्हें इमोशनल टॉर्चर ना करें क्योंकि ये आप पर उल्टा भी पड़ सकता है। इन बातों को ध्यान में रखते हुए अपनी प्लानिंग करें और टीम बनाकर इस काम में लग जाएं।




ऐसे परिवारों की आज भी कोई कमी नहीं है जहां बच्चों के शादी विवाह के फैसले वो खुद लेते हैं और उस दौरान वो उनकी पसंद-नापसंद जानना भी जरुरी नहीं समझते हैं। यदि बच्चा लव मैरिज करने का फैसला कर भी लेता है तो उसे घर से स्पोर्ट मिलना नामुमकिन नजर आता है।

अपने पसंद के लड़के या लड़की से शादी की बात घर पर बताने का काम भी उनके लिए किसी मिशन की तरह होता है। जिससे वो विवाह करना चाहते हैं यदि वो एक ही जाति और धर्म का हो तो फिर भी हिम्मत जुटाई जा सकती है लेकिन अगर वो दूसरे धर्म और जाति के हुए तो मामला और गंभीर हो जाता है। ऐसा कोई अचूक तरीका तो अभी तक नहीं मिल पाया है जिससे आप अपने माता पिता को अपनी लव मैरिज के लिए राजी कर सकें लेकिन ऐसे कुछ टिप्स हैं जिन्हें अपनाकर उन्हें मनाने में आपको मदद जरूर मिल सकती है।

   
 
स्वास्थ्य