Back
Home » समाचार
वीडियो में देखें चक्रवात वायु, गुजरात में गाड़ियां छोड़ भागे लोग, समुद्री लहरों से घिर गए कई गांव
Oneindia | 12th Jun, 2019 04:39 PM
  • एनडीआरएफ की 51 टीमें अलर्ट पर

    राज्य सरकार, राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन एवं भारतीय तटरक्षक दल सभी अपने-अपने स्तर पर आपदा से निपटने में जुटे हुए हैं। मौसम विभाग (आईएमडी) ने कहा है कि इस तूफान के असर से 150 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से हवाएं चलेंगी। जिससे दक्षिणी गुजरात में समुद्र से तबाही मच सकती है। अभी 9 तटीय जिलों में भारी बारिश की चेतावनी जारी की गई है। पर्यटकों को द्वारका, सोमनाथ, सासन और कच्छ के तटीय इलाकों से दूर रहने की सलाह दी गई है। एनडीआरएफ की 51 टीमें अलर्ट पर रखी गई हैं।


  • इन जिलों में आंधी-बारिश से होगी तबाही

    मौसम विभाग से प्राप्त जानकारी के अनुसार, वायु चक्रवात पोरबंदर, महुवा और दमन दीव क्षेत्र गुजरात के उत्तरी इलाके की ओर बढ़ रहा है। 6 जिलों में बारिश शुरू हो गई है। जूनागढ़, अमरेली, गिर, सोमनाथ, दीव, राजकोट, जामनगर, पोरबंदर, द्वारका और भावनगर में भारी बारिश के आसार हैं। बताया जा रहा है कि कच्छ, जामनगर, पोरबंदर, जूनागढ़, दीव, अमरेली, भावनगर, नवसारी और वलसाड के तटीय तट में 2 से 4.5 मीटर तक लहरें उठ सकती हैं।

    यह भी पढ़ें: समंदर से 150 KM/H की रफ्तार से उठा तूफान, गुजरात के 60 लाख लोग दहशत में


  • तीन लोगों की मौत हो गई

    इतना ही नहीं, राज्य में 700 स्थानों पर लोगों को स्थानांतरित किया गया है। दक्षिण गुजरात में तीथल समुद्र अशांत हो गया है। 5 से 6 फीट उूंची पानी की लहरें उठ रही है। दक्षिण गुजरात में तीन लोगों की मौत हो चुकी है। जलेश्वर क्षेत्र को वेरावल के तट पर खाली कराया जा रहा है।

    पढ़ें: चक्रवात वायु से गुजरात की 60 लाख आबादी पर संकट, अब तक गांवों से निकाले गए 3 लाख लोग




सूरत। अरब सागर में उठा भयंकर चक्रवात वायु गुरुवार की सुबह गुजरात के तट से टकराएगा। मगर, उससे पहले ही उसका रौद्ररूप नजर आने लगा है। समुद्र से सटे गांव, कस्बे और मंदिर-मस्जिदें ऊंची लहरों की जद में आ गए हैं। समुद्री में उठे ज्वार से एक ओर जहां बाढ़ का खतरा पैदा हो गया है। वहीं, तूफान से लाखों लोगों के प्रभावित होने की आशंका है। मौके पर मौजूद संवाददाता ने वेरावल से एक वीडियो भेजा है, जिसमें आप देख सकते हैं कि प्रकृति के आगे लोग किस तरह बेबस हो जाते हैं। लोग गाड़ियां छोड़कर भाग रहे हैं।

   
 
स्वास्थ्य