Back
Home » रिलेशनशिप
इंटिमेट रोमांस का ये नहीं है राइट टाइम, लोगों के मुताबिक नहीं मिलती संतुष्टि
Boldsky | 7th Aug, 2019 11:59 AM
  • क्या कहती है स्टडी

    फ्रंटियर्स इन साइकोलॉजी ने इस स्टडी को किया है जिसमें पाया गया कि यूके के ज्यादातर कपल्स रात के 9 बजे से लेकर 1 बजे के बीच शारीरिक संबंध बनाते हैं। इन कपल्स ने जब पोल सर्वे में हिस्सा लिया तो पता चला कि मजेदार और बेहतरीन सेक्स का आनंद लेने वाले लोगों की संख्या 40 प्रतिशत से कम थी। उनमें से कई लोगों ने ये भी माना कि रात में शारीरिक संबंध बनाना उन्हें रोज का काम करने जैसा लगने लगा है और इससे उन्हें संतुष्टि नहीं मिल रही है।
    इसके पीछे बड़ा कारण है कि रात के इस निश्चित समय के दौरान शरीर मरम्मत के कार्य में लग जाता है ताकि वो अगले दिन के लिए खुद को तैयार कर सके। वहीं दूसरी तरफ, सेक्स के लिए हाई एनर्जी की जरूरत होती है ताकि परफॉरमेंस अच्छा हो सके।


  • जानते हैं वजह

    ये समझना जरूरी है कि लोगों के बॉडी क्लॉक का शारीरिक संबंध बनाने से रिश्ता जुड़ा हुआ है, दरअसल ये हार्मोन्स और उत्तेजना को प्रभावित करता है। दफ्तर के थका देने वाले काम और दिनभर व्यस्त रहने के बाद शरीर को स्ट्रेस से मुक्ति पाने के लिए आराम की जरूरत होती है। वहीं कई लोग इस बात से इत्तेफाक रखेंगे कि इस स्थिति में सेक्स करना अच्छा ऑप्शन है। सोने से पहले सेक्स करना हर बार अच्छे नतीजे नहीं देता है। रात में आपको जिस तरह दूसरे कामों को करने में दिक्क्त होती है, ठीक उसी तरह बॉडी को शारीरिक संबंध बनाने के लिए कई नकारात्मक नतीजे झेलने पड़ते हैं। अगली बार से आप जब भी थका महसूस करें तब अपने शरीर को पूरा आराम दें।
    बहरहाल, कई लोग इस बात का समर्थन करेंगे कि सोने से पहले इंटरकोर्स से रिलैक्स होने में मदद मिलती है लेकिन ये याद रखें ये आपका सेक्शुअल बेस्ट परफॉरमेंस नहीं होगा। इस वजह से रात 9 बजे से आधी रात 12 बजे के बीच का समय शारीरिक संबंध बनाने के लिए उत्तम नहीं है।


  • क्या है इसका विकल्प

    दूसरे काम को पूरा करने के लिए शरीर को ऊर्जा की जरूरत होती है, ठीक उसी तरह अच्छे सेक्स के लिए बॉडी में एनर्जी लेवल भी अच्छा होना चाहिए। आपके लिए सुबह के समय ये टास्क करना अच्छा रहेगा। सुबह के समय बनाया गया इंटिमेट रिलेशन ना सिर्फ अच्छा होगा बल्कि इससे आपको संतुष्टि भी मिलेगी। रात में आप निद्रा अवस्था में होते हैं लेकिन तब भी शरीर काम कर रहा होता है, ये बॉडी के लिए जरूरी हार्मोन्स तैयार करता है और दिनभर की भागदौड़ और तनाव से प्रभावित क्षेत्रों की मरम्मत करता है। सुबह के समय मर्दों का टेस्टोस्टेरोन लेवल भी बहुत हाई होता है जो एक अच्छे सेक्स सेशन के लिए जरूरी होता है।




कोई भी शख्स नहीं चाहता है कि उसका शारीरिक संबंध बनाने का सेशन खराब हो। खराब सेक्स से ना सिर्फ रिलेशनशिप में दूरी आ सकती है बल्कि इस अनुभव के खराब होने से तनाव भी होता है। ये आपके सेक्स ड्राइव को भी प्रभावित करता है।

साइंस के मुताबिक लोगों में कामवासना का स्तर अलग अलग होने के अलावा एक और बहुत बड़ा फैक्टर है जो आपको अच्छे सेक्स का अनुभव होने से रोक रहा है और वो है आपके शारीरिक संबंध बनाने का समय। अगर आपको लगता है कि रात के नौ बजने के बाद आपका इंटरकोर्स सेशन मजेदार रहेगा तो आपको इस बारे में दोबारा सोचने की जरूरत है। कुछ ऐसे शोध हैं जो इस बात पर जोर दे रहे हैं कि बेड पर सुखद पलों का एहसास करने के लिए आपके द्वारा चुना गया समय गलत है और उसपर फिर से विचार करें।

   
 
स्वास्थ्य