Back
Home » स्‍वास्‍थ्‍य
क्‍या है आइस्‍क्रीम हैडेक और कैसे करें इसका इलाज
Boldsky | 3rd Aug, 2019 09:02 AM

आइस्‍क्रीम हैडेक को ब्रेन फ्रीज भी कहा जाता है। इसमें कुछ समय के लिए सिर में दर्द महसूस होता है। इसका संबंध लगातार और अधिक मात्रा में आइस्‍क्रीम, कोल्‍ड ड्रिंक या किसी भी ठंडी चीज का सेवन करना शामिल है। आमतौर पर ये समस्‍या गर्म मौसम में गर्मी और उमस से तुरंत राहत पाने के लिए कुछ ठंडा खाने पर होती है।

क्‍या होता है

कुछ बहुत ज्‍यादा ठंडा खाने पर साइनस की कोशिका सिकुड़ जाती है जिसकी वजह से रक्‍त वाहिकाएं संकुचित हो जाती हैं। इस बदलाव के कारण आसपास की नसों पर दबाव पड़ता है जिससे दर्द महसूस होने लगता है।

ऐसा क्‍यों होता है

तालु में रक्‍त वाहिकाओं के तेजी से संकुचित होने के कारण ऐसा होता है। बहुत ज्‍यादा ठंडी चीजें तालु को स्‍पर्श कर रक्‍त वाहिकाओं को संकुचित करती हैं जिससे ठंड के कारण सिरदर्द या ट्राईजेमिनल हैडेक होता है। स्‍टडी के अनुसार ऐसा किसी अन्‍य ठंडे उत्तेजक की वजह से भी हो सकता है।

रिसर्च क्‍या कहती है

एफएएसईबी जर्नल में वर्ष 2012 में प्रकाशित हुई एक रिसर्च में पाया गया कि आइस्‍क्रीम की वजह से सिरदर्द होता है क्‍योंकि इससे मस्तिष्‍क के एंटीरियर सेरेब्रेल धमनियों के जरिए रक्‍त का प्रवाह बढ़ जाता है।

कैसे करें बचाव

इस दर्द के इलाज का सबसे सही तरीका है कि आप खूब सारा गर्म पानी पीएं। जीभ को ऊपर की ओर मोड़ें, इससे दर्द से राहत पाने में मदद मिलती है। विशेषज्ञों की मानें तो हाथों से मुंह और नाक को ढकने और जल्‍दी-जल्‍दी सांस लेने से तालु में गर्म हवा का स्राव बढ़ता है जिससे दर्द से तुंरत राहत मिलती है।

   
 
स्वास्थ्य