Back
Home » समाचार
सुखराम के पुत्र अनिल शर्मा को BJP ने पार्टी से किया निष्कासित
Khabar India TV | 14th Aug, 2019 12:10 PM

शिमला। हिमाचल प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी ने अपने बागी विधायक और पूर्व केंद्रीय संचार मंत्री सुखराम के पुत्र अनिल शर्मा को पार्टी से निष्कासित कर दिया है। हिमाचल प्रदेश की  भाजपा इकाई के अध्यक्ष सतपाल सत्ती ने अनिल शर्मा के निष्कासन की पुष्टि की है। लोकसभा चुनाव के दौरान अनिल शर्मा के पुत्र आश्रय शर्मा ने मंडी लोकसभा सीट से कांग्रेस के टिकट पर लोकसभा चुनाव लड़ा था, अनिल शर्मा ने भी उस समय आश्रय शर्मा का साथ दिया था और तभी से संभावना जताई जा रही थी कि भाजपा से अनिल शर्मा की छुट्टी हो सकती है। 

अनिल शर्मा के पिता सुखराम की गिनती कभी कांग्रेस के दिग्गज नेताओं में होती थी और वह केंद्र सरकार में संचार मंत्री भी रह चुके हैं, लेकिन उनका नाम संचार घोटाले में आने के बाद कांग्रेस ने उन्हें पार्टी से हटा दिया, बाद में सुखराम ने हिमाचल विकास कांग्रेस नाम से अलग पार्टी बनाई और भारतीय जनता पार्टी को राज्य में सरकार बनाने के लिए समर्थन दिया।

इसके बाद 2003 में हुए हिमाचल विधानसभा चुनावों में सुखराम और उनके पुत्र अनिल शर्मा ने फिर से पासा बदला और अपनी पार्टी का कांग्रेस में विलय कर दिया। इसके बाद 2017 में हुए विधानसभा चुनाव से ठीक पहले अनिल शर्मा ने फिर पासा बदला और भारतीय जनता पार्टी में शामिल हो गए, चुनाव में भाजपा की जीत पर अनिल शर्मा राज्य सरकार में मंत्री भी बने लेकिन लोकसभा चुनावों से ठीक पहले उनके पिता सुखराम कांग्रेस में शामिल हो गए और अनिल शर्मा के पुत्र आश्रय शर्मा को कांग्रेस ने मंडी लोकसभा सीट से लोकसभा का टिकट भी दिया। लेकिन आश्रय शर्मा की हार हुई और अब भाजपा ने अनिल शर्मा को पार्टी से बाहर कर दिया है, विधानसभा में अनिल शर्मा अब अन अटैच मेंबर की भूमिका में रहेंगे। 

 

 

   
 
स्वास्थ्य