Back
Home » स्‍वास्‍थ्‍य
घर की खूबसूरती बढ़ाने वाले पर्दे और सोफा कर सकता है आपको बीमार, जाने कैसे?
Boldsky | 19th Aug, 2019 11:59 AM
  • पर्दे को नहीं धोते समय से

    घर की खूबसूरती बढ़ाने के साथ घर में धूल, धूप और बाहरी गंदगी से बचाव के ल‍िए भारी भरकम पर्दे का इस्‍तेमाल करते हैं। लेकिन लोग पर्दे लगाने के बाद भूल जाते हैं कि बाहरी गंदगी से बचाने वाले इन पर्दों को भी सफाई की जरुरत होती है। अगर आप इन पर्दों को साफ नहीं करते हैं तो अस्थमा जैसी गंभीर बीमारी घेर सकती हैं।


  • सोफे भी होते है कीटाणुओं के जिम्‍मेदार

    घर के सोफे भी बीमारी फैलाने में काफी हद तक जिम्‍मेदार हो सकते हैं। सोफा, बैक्‍टीरिया और कीटाणुओं का घर होता है। क्योंकि ज्यादातर हम सोफे का प्रयोग बैठने के लिए करते हैं और बहुत से कीटाणु उस पर जमा हो जाते हैं।


  • ये चीजें भी कर सकती है बीमार

    घर में रखे सामान में न सिर्फ सोफे और पर्दे गंदगी की वजह से आपको बीमार कर सकते हैं। इसके अलावा घर में रखें टेडी बियर, आर्टिफिशियल गमले और कालीन भी आपको बीमार कर सकते हैं। इसके साथ ही पूजा के लिए धूपबत्ती, अगरबत्ती या मच्छर भगाने के लिए क्वायल का इस्तेमाल करते हैं तो इन सब से भी आपको सांस की गंभीर बीमारी हो सकती है।


  • क्या कहता है शोध

    भारतीय डाक्टरों द्वारा किए शोध में इस बात का खुलासा हुआ है कि भारत में बिना धूम्रपान के भी बहुत से लोगों को सांस की गंभीर बीमारी हो रही है। जबकि आमतौर पर सांस की ये समस्या सिगरेट या बीड़ी पीने वालों को होती है। लेकिन भारत में तेजी से फैल रही इस बीमारी के बारे में शोध करने पर यह आश्चर्यजनक बात पता चली कि सांस की बीमारी का खतरा तो सबसे ज्यादा लोगों के घर में मौजूद फर्नीचर, पर्दे और डेकोरेशन के वजह से होता है, जो उन्हें बीमार बना रहा है। इन सामान में मौजूद कीटाणु और जमी धूल सांस से जुड़ी समस्‍या को बढ़ाता है। इसे आम भाषा में हाउसहोल्‍ड पॉल्‍यूशन भी कहा जाता है।




अपने घर की खूबसूरती बढ़ाने के ल‍िए हर कोई बहुत सारा समय और पैसा दोनों खर्च करते हैं। दीवारों के रंग से मेल खाते पर्दे, सोफे, चादरें और इन सबके अलावा बहुत सी चीजें आप घर की सजावट के लिए रखते हैं। लेकिन अगर आप इन सबकी साफ-सफाई पर ध्यान नहीं देते हैं तो क्या आप जानते हैं, यहीं घर की सजावट सेहत को नुकसान पहुंचा सकती हैं। आगे की स्लाइड में जाने यहीं घर आपको कैसे बीमार बना रहा है।

   
 
स्वास्थ्य