Back
Home » स्‍वास्‍थ्‍य
घर और कार महकाने वाला एयर फ्रेशनर आपको दे सकता है कैंसर, जाने इसके अधिक इस्‍तेमाल के साइड इफेक्‍ट्स
Boldsky | 19th Aug, 2019 10:54 AM
  • रिसर्च में भी आई है ये बात सामने

    एक शोध के अनुसार शोधकर्ताओं का कहना है कि रूम फ्रेशनर या घरों को सुगंधित रखने के लिए उपयोग की जाने वाली अन्य चीजें चीजें अगरबत्ती या धूपबत्ती बच्चों और माताओं में अवसाद का कारण बनती हैं। इन चीजों का उपयोग सीमित मात्रा में ही किया जाना चाहिए।


  • अस्‍थमा होने का रहता है डर

    रुम फ्रेशनर और एयर फ्रेशनर में उपस्थित फार्मलाडेहाइड से आंख में जलन, सांस में तकलीफ, जी ख़राब होना और अस्थमा जैसी बीमारियों के होने का खतरा बना रहता हैं। पेट्रोलियम डिस्टिल्ट पेट्रोकेमिकल के निर्माण कि वजह से दमा, फुफ्फुसीय क्षति और श्वांस कि बीमारियों का खतरा बना रहता हैं।


  • कैंसर होने की संभावना

    एरोसोल प्रणोदक पृथ्वी के ओजोन परत के साथ-साथ मानव स्वास्थ्य को नुकसान पहुंचा सकते हैं। जिसकी वजह से कैंसर और सांस कि बीमारियों का खतरा बना रहता हैं।


  • स्किन से जुड़ी समस्‍या होती है

    एयर फ्रेशनर से एनीमीस्किन क्षति, त्वचा क्षति, यकृत को नुकसान, भूख में कमी और रक्त में परिवर्तन हो जाता है।


  • खुश्‍बूदार अगरबत्ती और मोमबती भी नुकसानदायक

    एक शोध में भी ये बात सामने आ चुकी है कि घरों में इस्तेमाल की जाने वाली धूपबत्ती, अगरबत्तियां, सुगंधित मोमबत्तियां और घर महकाने वाले रूम फ्रेशनर में मौजूद केमिकल से हम धीरे-धीरे बीमार हो रहे हैं। इन वस्तुओं के इस्तेमाल से निकलने वाला धुआं सिगरेट के धुंए से कहीं ज्यादा नुकसानदायक है। धूपबत्ती में पाए जाने वाले पदार्थ का धुआं हमारे फेफड़ों को धीमी गति से नष्ट करता है।




ऑफिस, घर, वॉशरुम और गाड़ियों में सीलन की बदबू दूर करने के लिए लोग एयरफ्रेशनर का इस्‍तेमाल करते है ताक‍ि आसपास का वातावरण महक उठे, लेकिन क्‍या आप जानते है क‍ि ये महकते हुए केमिकल आपको बीमार कर सकते हैं।

घरों में प्रयोग किए जाने वाले रुम फ्रेशनर और गाड़ियों में इस्‍तेमाल किए जाने वाले एयर फ्रेशनर दरअसल सेहत के ल‍िए घातक साबित हो सकते हैं। इनके अधिकत्तम प्रयोग से अस्थमा, कैंसर, फेफड़ों की गंभीर बीमारी, ट्यूमर और हमारे डीएनए की संरचना बदल सकती हैं।

   
 
स्वास्थ्य