Back
Home » रिलेशनशिप
क्या दिमाग में चल रही है ब्रेकअप की बातें, जानें इस सिचुएशन में क्या करें
Boldsky | 20th Aug, 2019 03:08 PM
  • वजह नहीं है बहुत बड़ी

    कई बार एक गलती का परिणाम किसी अपराध से भी ज्यादा मिल जाता है। हर बार गलती का मतलब ये नहीं होता कि रिश्ता ही खत्म कर दिया जाए। आप अपना पूरा समय लें और इस बारे में सोचें। क्या आपके पार्टनर हालात का शिकार हुए हैं? जो घटना हुई क्या ऐसा कुछ पहली बार हुआ है? आप स्थिति का आंकलन करें और जल्दबाजी ना दिखाएं। अगर आपको लगता है कि पार्टनर का ये सिर्फ झुकाव था और ऐसा फिर दोबारा नहीं होगा तो आपको उन्हें जरूर माफ कर देना चाहिए।


  • जब पार्टनर खुद स्वीकार कर ले गलती

    ऐसे बहुत से मौके आते हैं जब गलतियों पर किसी का ध्यान नहीं जाता है लेकिन यदि आपका पार्टनर अपनी गलतियों की जिम्मेदारी लेता है तो ये उसकी निष्कपटता को दर्शाता है। अपनी गलती का एहसास करना और उसे स्वीकार करना आसान काम नहीं होता है। अगर आपका पार्टनर ऐसा करता है तो वो दूसरा मौका पाने का हकदार है।


  • जब बात हो विश्वास, सम्मान और वफादारी की

    एक रिश्ता सिर्फ और सिर्फ प्यार पर टिका नहीं रह सकता है। रिलेशनशिप में भरोसा, सम्मान और निष्ठा का होना जरूरी होता है। आपके पार्टनर ने जो किया उस कारण से आपकी नजरों में उसका सम्मान कम हो गया है? या भरोसे की डोर के टूट जाने जैसा महसूस हुआ है? इन सभी बिंदुओं पर ध्यानपूर्वक सोचें। अगर आपको लगता है कि आपके रिश्ते की नींव अब भी पहले की तरह मजबूत है तो पार्टनर को दूसरा मौका देने में कोई बुराई नहीं है।


  • शब्दों के बजाय पार्टनर का बर्ताव कहता है बहुत कुछ

    जल्दबाजी में आकर रिश्ते को खत्म करने का फैसला ना लें बल्कि थोड़ा समय लें और ऑब्जर्व करें। अगर आपके पार्टनर ने खुद को बदलने का वादा किया है और उसके बर्ताव में परिवर्तन नजर आ रहा है तो ये अच्छा संकेत है। मान लीजिए कि वो पहले पैसों से जुड़ी जानकारी आपके साथ साझा नहीं करता था लेकिन अब वो अपनी इस आदत में सुधार ला रहा है तो उसे माफ करना गलत नहीं है।


  • जब दोनों रिश्ते को आगे बढ़ाना चाहते हों

    उस इंसान को दूसरा मौका मिलना चाहिए जो हकीकत में अपनी गलती स्वीकार करता है और अपने रिश्ते को आगे बढ़ाना चाहता है। जब आप अपने पार्टनर को दूसरा मौका देते हैं तो इसका मतलब है कि आप भी अपने रिश्ते का भविष्य देख रहे हैं। जब अपने रिश्ते को लेकर आप दोनों के विचार एक जैसे हैं तो अपने पार्टनर को दूसरा चांस देना चाहिए।


  • अपने मन की आवाज सुनें

    जब हम किसी रिलेशनशिप में होते हैं, तब हमें अपनी भावनाओं पर भरोसा रखना चाहिए। कई बार जिस व्यक्ति से आप प्यार करते हैं उसके खिलाफ पूरी दुनिया खड़ी हो जाती है लेकिन तब आपको अपने मन की आवाज सुननी चाहिए। हो सकता है आप एक बार के लिए गलत भी हों लेकिन पार्टनर पर आपका विश्वास उन्हें बदलने के लिए प्रेरित कर सकता है।




एक रिलेशनशिप में आकर आप और आपका पार्टनर एक दूसरे को समझने की कोशिश करते हैं। जब इंसान बहुत करीब आ जाता है तो उसकी अच्छाइयों के साथ साथ उसकी गलत आदतों की जानकारी भी होने लगती है।

एक रिश्ते की शुरुआत में व्यक्ति जितना समय लेता है, उसे खत्म करने के लिए भी उसे वक्त लेना चाहिए। बिना हकीकत जाने उसे किसी भी नतीजे पर नहीं पहुंचना चाहिए। अगर आप इस असमंजस में हैं कि रिश्ते में अपने पार्टनर को दोबारा मौका देना चाहिए या नहीं, तो यहां आपको कुछ मदद मिल सकती है।

   
 
स्वास्थ्य