Back
Home » स्‍वास्‍थ्‍य
क्‍या पानी में भी कैलोरी होती है?
Boldsky | 17th Sep, 2019 11:05 AM

सेहत के बारे में हम जब भी बात करते हैं तो कैलोरी का नाम जरूर आता है लेकिन ऐसा क्‍या है तो कैलोरी को इतना महत्‍वपूर्ण बनाता है और हमें कैलोरी क्‍यों बर्न करनी चाहिए। क्‍या सच में ऐसा कुछ है जिसमें कैलोरी बिल्कुल नहीं होती है। कैलोरी खाने से मिलने वाली एनर्जी की मात्रा है।

जैसे कार या वाहन पेट्रोल से चलते हैं, उसी तरह शरीर भी एनर्जी से चलता है जिसे कैलोरी के रूप में गिना जाता है। यही वजह है कि आहार से सही मात्रा में कैलोरी का मिलना बहुत जरूरी है। हमारी रोजाना की कैलोरी की खपत के लिए तीन प्रमुख पोषक तत्‍व होते हैं - प्रोटीन, फैट और कार्बोहाइड्रेट। एक ग्राम फैट, प्रोटीन और कार्बोहाइड्रेट में नौ, चार और चार कैलोरी होती है। चूंकि, पानी में कार्बोहाइड्रेट, प्रोटीन या फैट नहीं होता है इसलिए पानी में कैलोरी भी शून्‍य रहती है। अब पानी का एक और फायदा हो गया कि इसमें जीरो कैलोरी होती है।

लेकिन ऐसा नहीं है कि पानी में कैलोरी नहीं होती है तो इससे शरीर को एनर्जी नहीं मिलती है। यहां तक कि पानी भोजन को तोड़कर कोशिकाओं से एनर्जी में बदलने की क्रिया में मदद करता है। पानी में भले ही खुद कैलोरी ना होती हो लेकिन ये भोजन से मिलने वाली कैलोरी को बाकी अंगों तक पहुंचाने में मदद करता है। ये कैलोरी बर्न करने में भी लाभकारी है इसलिए वजन कम करने के लिए खूब सारा पानी पीने की सलाह दी जाती है।

इसके अलावा ठंडा पानी पीने से कैलोरी ज्‍यादा तेजी से बर्न होती है। कैलोरी बर्न करने के साथ ही पानी शरीर से अपशिष्‍ट पदार्थों को भी बाहर निकालता है। पानी किडनी में विषाक्‍त पदार्थों को फिल्‍टर करता है। पानी में कैलोरी नहीं होती इसलिए इससे वजन भी नहीं बढ़ता है।

अब तो आप समझ गए ना कि क्‍यों ज्‍यादा पानी पीने की सलाह दी जाती है। अब अगर आप ऐसा लिक्विड ढूंढ रहे हैं जिसमें कैलोरी ना हो, तो वो पानी है। दिनभर में आठ गिलास पानी पीना जरूरी है।

   
 
स्वास्थ्य