Back
Home » स्‍वास्‍थ्‍य
अगर फ्यूचर में बचना चाहते हैं किसी बड़ी बीमारी से तो कराते रहे ब्लड टेस्ट, जाने क्यों हैं जरुरी
Boldsky | 3rd Oct, 2019 10:28 AM
  • बड़ी से बड़ी बीमारी का चल सकता है पता

    ब्लड टेस्ट के जरिए आप शरीर के कई दूसरे अंगों के कार्यप्रणाली और उनकी सही स्तिथी के बारे में भी पता किया जा सकताहै। जैसे किडनी, लीवर, हर्ट की जांच हो सकती है। साथ ही अनुवांशिक रूप से कोई बीमारी होने की आशंका तो आपको नहीं है इस बात का भी पता किया जा सकता है।


  • हार्मोनल अनियमिता के बारे में चल जाता हैं पता

    अगर आप काफी समय से अपने शरीर में वजन से जुड़े कुछ बदलाव देख रहे हैं जैसे की लगातार आपका वजन घट रहा हैं बिना किसी डाइट किये बिना तो यह हार्मोनल अनियमिता, कैंसर, थाइरोइड और दिल से जुड़ी किसी बीमारी का संकेत हो सकता हैं। एक ब्लड टेस्ट के जरिये आप अपनी सेहत से जुड़ी कई गुतिथियो गुत्थियों को सुलझा सकते हैं।


  • कब और कैसे कराएं?

    बिजी लाइफस्टाइल में आजकल लोग छोटी उम्र में ही ब्लड शुगर, बीपी जैसी कई बीमारियों के चपेट में आ जाते हैं। छोटी उम्र में इन बीमारियों से बचने के लिए जरुरी बचाव है की आप समय-समय पर कंप्लीट बॉडी चेकअप और ब्लड टेस्ट जरूर कराना चाहिए। इसके लिए आप किसी अच्छी लैब और हॉस्पिटल से संपर्क कर सकते हैं। आमतौर पर ब्लड से जुड़े सभी टेस्ट की रिपोर्ट 24 घंटे के अंदर-अंदर आ जाती है। इन जांचो के जरिये आप कई बीमारियों से बच सकते है।


  • रक्त जांच करने से पहले इस बात का रखे ध्यान

    अगर आप भी अपना ब्लड टेस्ट करवाने का सोच रहे है तो यह बात ध्यान रखे की अच्छे रिजल्ट के लिए खाली पेट ही ब्लड टेस्ट कराएं। इसके अलावा ब्लड टेस्ट करने के 8 से 12 घंटे पूर्व फास्टिंग पर रहे।




हमारे शरीर में कई सारी बीमारियों का पता रक्त जांच के माध्यम से ही चलता है। क्योंकि रक्त में मौजूद विषैले तत्व और अशुद्धियों के वजह से रक्त से जुड़ी कई बीमारियां होने की आशंका रहती है। हमारा शरीर स्वथ्य तरीके से काम करें इसके लिए जरूरी है कि हमारा ब्लड भी शुद्ध और साफ बना रहे। क्योंकि ब्लड ही हमारे शरीर को चलाने और ऊर्जा देने का मुख्य स्त्रोत है। खून की जांच समय-समय पर कराते रहना चाहिए ताकि उन समय रहते हुए उन बीमारियों के बारे में भी पता चल सके, जो भविष्य में आगे चलकर लाइलाज बीमारी का रूप ले सकता है।

शरीर में खून की कमी होना, ब्लड में किसी तरह का संक्रमण होना, ब्लड में ग्लूकोज की मात्रा की जांच, रेड और वाइट ब्लड सेल्स की मात्रा , हिमोग्लोबिन की स्थिति, विटामिन बी 12, विटामिन डी, प्लेटलेट्स काउंट, प्लाजमा आदि की ठीक-ठीक उपस्थिति का पता ब्लड टेस्ट के जरिए ही चलता है। समय रहते अगर ब्लड के सभी कंपाउंड्स की बेहतरी पता चलती रहे तो आगे चलकर अपनी सतर्कता की वजह से अब किसी घातक बीमारी से बच सकते हैं।

   
 
स्वास्थ्य