Back
Home » प्रेगनेंसी-पेरेंटिंग
आपका बच्‍चा इंट्रोवर्ट है या एक्‍स्‍ट्रोवर्ट, ऐसे पहचानें
Boldsky | 7th Oct, 2019 10:00 AM
  • बच्‍चा इंट्रोवर्ट है या एक्‍स्‍ट्रोवर्ट?

    अपने बच्‍चे की पर्सनैलिटी जानने के लिए सबसे पहले इस बात पर गौर करें कि उसके मूड पर कौन-सी चीज़ें असर करती हैं और क्‍या चीज़ें उसे सबसे ज्‍यादा उत्‍साहित और खुश करती हैं। इंट्रोवर्ट और एक्‍स्‍ट्रोवर्ट के और भी कई उप प्रकार हैं और अपने बच्‍चे की आदतों पर थोड़ा गौर करके आप इस बात को समझ सकते हैं।


  • क्‍या होता है एक्‍स्‍ट्रोवर्ट?

    एक्‍स्‍ट्रोवर्ट वो लोग होते हैं जो हमेशा एनर्जी से भरे रहते हैं और लोगों से खूब बाते करते हैं। इन्‍हें नए लोगों से मिलने और बात करने में कोई हिचकिचाहट महसूस नहीं होती है।


  • इंट्रोवर्ट कौन होते हैं

    वहीं इंट्रोवर्ट लोगों को अकेले रहना पसंद होता है। इन्‍हें अपनी प्राइवेसी में ही सबसे ज्‍यादा खुशी मिलती है। ये कभी-कभी लोगों से बात कर लेते हैं लेकिन ज्‍यादार अपनी ही दुनिया में खोए रहना, इन्‍हें अच्‍छा लगता है।


  • कैसे लगाएं पता?

    यहां हम आपको कुछ ऐसे सवाल बता रहे हैं जिनकी मदद से आप जान सकते हैं कि आपका बच्‍चा इंट्रोवर्ट या एक्‍स्‍ट्रोवर्ट और आपके बच्‍चे को किन चीज़ों से एनर्जी मिलती है। इससे आप अपने बच्‍चे की देखभाल बेहतर तरीके से कर पाते हैं और हर रोज हर स्थिति को लेकर उसकी प्रतिक्रिया का अंदाज़ा लगा सकते हैं। जैसे-

    • दूसरों से बात करने में कैसा है-
    • खुश रहता है और खूब बातें करता है
    • शर्म और हिचकिचाहट महसूस होती है
    • पूरा दिन भरपूर एनर्जी के साथ पूरे घर में घूमता रहता हशांत रहता है
    • अपनी उम्र के बच्‍चों से बात करने में कैसा है
    • खुशी से खेलता और बातें करता है
    • अकेले रहना पसंद करता है
    • नए लोगों से मिलने पर कैसा है
    • नए लोगों से मिलना अच्‍छा लगता है
    • परेशान रहता है और अकेले रहना चाहता है
    • स्‍कूल की एक्टिविटीज़ में हिस्‍सा लेने के लिए कैसा है

  • एक्‍स्‍ट्रोवर्ट है तो

    अगर आपके ज्‍यादातर जवाब पहले नंबर के हैं तो इसका मतलब है कि आपका बच्‍चा एक्‍स्‍ट्रोवर्ट है। उसे नए लोगों से बात करना और दोस्‍त बनानना अच्‍छा लगता है। ऐसे बच्‍चों के पैरेंट्स को उन्‍हें ऐसी एक्टिविटीज़ में डालना चाहिए जहां वो स्‍पॉटलाइट में आ सकें। उसे स्‍कूल के ड्रामा या म्‍यूजिक जैसी एक्टिविटीज़ में हिस्‍सा दिलवाएं।


  • इंट्रोवर्ट है तो


    अगर आपके ज्‍यादातर जवाब दूसरे नंबर के हैं तो आपका बच्‍चा इंट्रोवर्ट है और उसे अकेले रहना ज्‍यादा पसंद है। उसे ज्‍यादा लोगों से एक साथ बात करने की बजाय एक-एक करके बात करना सहज लगता है। आपको ऐसे बच्‍चों को उन्‍हीं जगहों पर भेजना चाहिए जहां वो सहज महसूस करते हों। लेकिन इन्‍हें कुछ नया और अलग करने के लिए भी मोटिवेट करते रहें।




बच्‍चे की पर्सनैलिटी का उसके बात करने के तरीके, नए दोस्‍त बनाने और स्‍कूल में उसके रवैये पर भी असर पड़ता है। माता-पिता होने के नाते आपको पता होना चाहिए कि आपका बच्‍चा इंट्रोवर्ट या एक्‍स्‍ट्रोवर्ट यानी उसे लोगों से बात करने में शर्म महसूस होती है या वो आसानी से किसी के भी साथ घुल-मिल जाता है।

ये चीज़ें बच्‍चे के विकास के वर्षों में महत्‍वपूर्ण निभाती हैं और उमसें आत्‍मविश्‍वास लाने में मदद करती हैं। अगर आप ये जान लेते हैं कि आपके बच्‍चे का व्‍यवहार कैसा है तो इससे आपको उसके लिए कुछ महत्‍वपूर्ण निर्णय लेने में मदद मिलेगी और आप उसकी अच्‍छी बातों को पहचान पाएंगें।

   
 
स्वास्थ्य