Back
Home » खेल
शेन वॉर्न ने ऑस्ट्रेलिया में स्पिन गेंदबाजों के गिरते स्तर के लिए इन पिचों को ठहराया जिम्मेदार
Khabar India TV | 23rd May, 2020 06:21 PM

महान स्पिनर शेन वार्न ऑस्ट्रेलिया में स्पिन गेंदबजाों की मौजूदा स्थिति को देखकर काफी चिंतित है। शेन वॉर्न का मानना है कि क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया को राज्यों में स्पिन गेंदबाज़ी में सुधार करने के लिए प्रत्येक प्रथम श्रेणी मैच में एक स्पिनर को रखने के लिए बाध्य किया जाना चाहिए। शेन वार्न ने ‘द वेस्ट ऑस्ट्रेलियन’ से कहा , ‘‘स्पिनर को हर मैच खेलना चाहिये, चाहे हालात कैसे भी हो। ताकि स्पिनर समझ सके कि पहले या चौथे दिन कैसी गेंद डालनी है। इस समय हालात अनुकूल होने पर ही प्रांतीय टीमें उन्हें चुनती हैं।’’

उन्होंने कहा, ‘‘अगर वे राज्य स्तर पर नहीं खेलेंगे तो सीखेंगे कैसे। प्रदेश की टीमों को हर मैच में एक विशेषज्ञ स्पिनर रखना चाहिये। क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया को इसके लिए अथक प्रयास करने होंगे।’’

वार्न ने कहा कि नाथन लियोन की जगह लेने के लिये प्रतिभाशाली स्पिनर की कमी है। उन्होंने कहा कि ड्राप इन पिचों से स्पिनरों का विकास नहीं हो पा रहा है। उन्होंने कहा,‘‘एक समय में हर प्रदेश में हालात अलग होते हैं लेकिन अब आर्टिफिशियल पिचों का इस्तेमाल हो रहा है। इनके अधिक इस्तेमाल से बचना होगा।’’ 

श्रीसंत के विश्व कप विजयी कैच पर उथप्पा को नहीं था भरोसा, बोले - किस्मत थी साथ

उन्होंने कहा, "नाथन लियोन दुनिया के सर्वश्रेष्ठ स्पिनरों में से एक हैं और इस वजह से हम बहुत भाग्यशाली हैं। अगर उनके साथ कुछ हुआ, तो हमारे पास बहुत कम प्रथम श्रेणी क्रिकेट का अनुभव रखने वाला स्पिनर होगा जिसे स्पिन की दुनिया के कुछ बेहतरीन खिलाड़ियों का सामना करना होगी।"

वॉर्न ने आगाह करते हुए कहा, "हमारे पास ऑस्ट्रेलिया में कुछ अच्छे स्पिनर हैं, लेकिन उन्हें मौके नहीं मिल रहे हैं। क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया को शायद राज्यों पर कुछ दबाव डालना चाहिए और कहना चाहिए कि आपको हर बार अपनी टीम में एक विशेषज्ञ स्पिनर चुनना होगा।"

50-वर्षीय वॉर्न का मानना है कि ड्रॉप-इन पिचों के बढ़ने से लगभग इसी तरह की स्थिति बनी हुई है, जिससे एक स्पिनर वृद्धि पर असर पड़ता है। उन्होंने कहा, "एक समय था जब हर राज्य में पूरी तरह से अलग-अलग स्थितियां थीं। अब बहुत सारी ड्रॉप-इन पिचें हैं - एडिलेड, मेलबर्न, पर्थ के नए स्टेडियम में एक ड्रॉप-इन पिच है। हमें इसको लेकर सावधान रहना होगा।"

   
 
स्वास्थ्य